people injured

पूर्वी जेरूसलम में हुई झड़प में 100 से अधिक लोग घायल

सुदूर यहूदी कार्यकर्ताओं, फिलिस्तीनियों और इजरायली पुलिस के बीच पूर्वी यरुशलम में हुई झड़पों में कई लोग घायल हुए हैं। पुलिस ने फिलिस्तीनियों और अति-राष्ट्रवादी यहूदी प्रदर्शनकारियों को अलग रखने की कोशिश की, तो वहां हिंसा भड़क गई। बढ़ती राष्ट्रवादी और धार्मिक तनाव के बीच यह इजरायल के कब्जे वाले क्षेत्र में टकराव की रातों की तरह है। 1967 के मध्य पूर्व युद्ध के बाद से इजरायल ने पूर्वी यरुशलम पर कब्जा कर लिया था और पूरे शहर को अपनी राजधानी मानता है, हालांकि यह अंतरराष्ट्रीय समुदाय के विशाल बहुमत द्वारा मान्यता प्राप्त नहीं है। वहीं फिलिस्तीनियों ने पूर्वी यरुशलम को एक स्वतंत्र राज्य की भावी राजधानी के रूप में दावा किया है।

जेरूसलम के ओल्ड सिटी के दमिश्क गेट प्रवेश द्वार की ओर जाने वाले अल्ट्रा-नेशनलिस्ट लेहवा समूह के सैकड़ों यहूदी चरमपंथियों के बाद, गुरुवार की रात में सबसे भयंकर लड़ाई छिड़ गई, जहां बड़ी संख्या में फिलिस्तीनियों ने एकत्रित होकर ‘‘डेथ टू अरब’’ का जाप किया। दोनों पक्षों के बीच पत्थर और बोतलें फेंकी गईं और पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने की कोशिश के लिए स्टन ग्रेनेड, आंसू गैस और पानी की तोप का इस्तेमाल किया। इस सप्ताह यरूशलेम में अरबों पर यहूदियों द्वारा कई हमले किए गए हैं, जिसमें एक ऐसी घटना भी शामिल है, जिसमें यहूदी युवाओं ने अरब विरोधी नारे लगाए और एक अरब ड्राइवर के साथ मारपीट की जो उनके साथ प्रतिशोध लेने के लिए रुका था।



Live TV

-->

Loading ...