South Korea

दक्षिण कोरिया में शहीदों के अवशेषों की हस्तांतरण रस्म का आयोजन

चीनी पीपुल्स वालंटियर आर्मी की सातवीं खेप के शहीदों के अवशेष लौटाने का समारोह 27 सितंबर को दक्षिण कोरिया के इंचियोन अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे में आयोजित हुआ। चीन के वेटरन्स मामला मंत्रालय के उप मंत्री छांग जेंगक्वो के नेतृत्व में चीनी प्रतिनिधिमंडल ने इस समारोह में भाग लिया।

उस दिन की सुबह चीन और दक्षिण कोरिया दोनों पक्षों के प्रतिनिधियों ने सौंपने वाले पत्र पर हस्ताक्षर किये। उन्होंने दक्षिण कोरिया में चीनी पीपुल्स वालंटियर आर्मी के 117 शहीदों के अवशेषों और संबंधित वसीयत चीज़ें सौंपने की पुष्टि की। दक्षिण कोरिया में चीनी राजदूत शिंग होईमिंग ने इन शहीदों के ताबूतों पर चीनी झंडा लिपटाया। चीनी पक्ष ने स्मारक समारोह का आयोजन किया। चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के शिष्टाचार सैनिकों ने इन शहीदों के ताबूत का अनुरक्षण करते हुए विशेष विमानों में भेजा। ये शहीद अपनी मातृभूमि में वापस लौटेंगे।

समारोह में उप मंत्री छांग जेंगक्वो ने कहा कि चीन और दक्षिण कोरिया मानवीय सिद्धांतों का पालन करते हुए स्पष्ट व दोस्ताना और व्यावहारिक सहयोग के अभिप्राय को मूर्त रूप देते हैं। साल 2014 के बाद से अब तक दक्षिण कोरिया ने लगातार 7 वर्षों तक चीन को जन स्वयं सेना के शहीदों की अस्थियों के अवशेष सौंपे हैं। अब तक 716 शहीदों की अस्थियों के अवशेष स्वदेश वापस लाए जा चुके हैं। चीन ने दक्षिण कोरिया के संबंधित विभागों और कर्मचारियों के प्रयास के लिये आभार जताया। चीन दोनों पक्षों के बीच मैत्रीपूर्ण सहयोग और संपर्क को आगे मजबूत करेगा। साथ ही चीन दक्षिण कोरिया में चीनी पीपुल्स वालंटियर आर्मी के शहीदों के अवशेषों की रक्षा संबंधी कार्य को सक्रिय रूप से बढाएगा। ताकि शेष चीनी शहीद भी अपनी मातृभूमि में वापस आ सकें।
(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)