Reliance industries, oil business, Aramco

तेल कारोबार में बड़ा बदलाव करेगी Reliance, अरामको से डील की हो रही तैयारी

नई दिल्लीः अरबपति मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने अपने तेल-से-रसायन कारोबार के पूर्ण स्वामित्व वाली इकाई में डिमर्जर की रूपरेखा की घोषणा है। कंपनी ने इसके लिए शेयरधारकों और ऋणदाताओं से मंजूरी मांगी है। कंपनी को उम्मीद है कि आगामी वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही तक इसे मंजूरी मिल सकती है। कंपनी के इस कदम से सऊदी अरामको जैसे वैश्विक निवेशकों को आकर्षित करने में मदद मिलेगी।

आरआईएल ने एक्सचेंज को दी जानकारी में कहा है कि ऑयल टु केमिकल्स कारोबार के पुनर्गठन से उसे O2C वैल्यू चेन में अवसरों का फायदा उठाने का मौका मिलेगा और डेडिकेटेड मैनेजमेंट टीम इनवेस्टर कैपिटल के डेडिकेटेड पूल्स को आकर्षित करेगी। रिलायंस इंडस्ट्रीज तेल-से-रसायन कारोबार के लिए अलग इकाई बना रही है। कंपनी का कहना है कि इस कदम से उसे रणनीतिक साझेदारों के साथ वृद्धि के अवसरों को आगे बढ़ाने में मदद मिलेगी।

गौरतलब है कि काफी समय से रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड दुनिया की सबसे बड़ी तेल कंपनी सऊदी अरामको के साथ 20 फीसदी हिस्सेदारी बेचने के लिए बातचीत कर रही थी। लेकिन कोरोना वायरस महामारी की वजह से यह डील रुक गई थी। कंपनी के तेल-से-रसायन व्यवसाय का मूल्यांकन 75 अरब डॉलर किया गया था। 

Live TV

Breaking News

Loading ...