IPL 2020

Breaking: IPL 2020: राजस्थान रॉयल्स ने किंग्स इलेवन पंजाब को 4 विकेट से हराया

 शारजाह: राहुल तेवतिया की एक ओवर में पांच छक्कों से सजी आतिशी पारी के दम पर राजस्थान रॉयल्स ने रविवार को यहां मयंक अग्रवाल के शतक से विशाल स्कोर खड़ा करने वाले किंग्स इलेवन पंजाब को चार विकेट से हराकर इंडियन प्रीमियर लीग में सबसे बड़ा लक्षय़ हासिल करने का अपना 12 साल पुराना रिकार्ड तोड़ा। 

रॉयल्स के सामने 224 रन का लक्षय़ था। उसे आखिरी तीन ओवरों में 51 रन चाहिए थे। बड़ा लक्षय़ हासिल करने के लिये मजबूत नींव रखने वाले संजू सैमसन (42 गेंदों पर 85 रन, चार चौके, सात छक्के) और कप्तान स्टीव स्मिथ (27 गेंदों पर 50, सात चौके, दो छक्का) पवेलियन में विराजमान थे।

ऐसे में तेवेतिया (31 गेंदों पर 53 रन, सात छक्के) ने शेल्डन कोटरेल के पारी के 18वें ओवर में पांच छक्के लगाकर पूरे समीकरण ही बदल दिये। नये बल्लेबाज जोफ्रा आर्चर (तीन गेंद पर नाबाद 13) ने मोहम्मद शमी पर लगातार दो छक्के लगाये जबकि तेवतिया ने इसी ओवर में एक छक्के से अपना अर्धशतक पूरा किया। रॉयल्स ने 19.3 ओवर में छह विकेट पर 226 रन बनाकर जीत दर्ज की। उसने अंतिम पांच ओवरों में 86 रन बनाये। 

इससे पहले अग्रवाल ने अपने टी20 करियर का दूसरा और आईपीएल का पहला शतक जमाया। उन्होंने 50 गेंदों पर दस चौकों और सात छक्कों की मदद से 106 रन बनाये तथा कर्नाटक के अपने साथी केएल राहुल (54 गेंदों पर 69, सात चौके, एक छक्का) के साथ पहले विकेट के लिये 183 रन की साझेदारी की। निकोलस पूरण ने आठ गेंदों पर नाबाद 25 रन बनाकर किंग्स इलेवन का स्कोर दो विकेट पर 223 रन पर पहुंचाया।

रॉयल्स ने न सिर्फ आईपीएल में सबसे बड़ा लक्षय़ हासिल करने का रिकार्ड बनाया बल्कि इस टूर्नामेंट में बाद में बल्लेबाजी करते हुए सबसे बड़ा स्कोर भी खड़ा किया। रॉयल्स की यह लगातार दूसरी जीत है जबकि किंग्स इलेवन को दूसरी बार जीत के करीब पहुंचकर हार झेलनी पड़ी।

आईपीएल में इससे पहले सबसे बड़ा लक्षय़ हासिल करने का रिकार्ड रॉयल्स के नाम पर ही था। उसने 2008 में डेक्कन चाजर्र्स के खिलाफ 215 रन बनाकर यह रिकार्ड बनाया था। 

तेवतिया ने लगता था कि अपने तेवर आखिरी ओवरों के लिये ही बचा रखे थे क्योंकि एक समय उन्होंने 19 गेंदों पर केवल आठ रन बनाये थे। जोस बटलर (चार) का विकेट जल्दी गंवाने के बाद स्मिथ और सैमसन ने रॉयल्स की पारी को संवारा था और लग रहा था कि तेवतिया उनकी सारी मेहनत पर पानी फेर देंगे लेकिन आखिर में वह नायक बनकर उभरे। 

स्मिथ और सैमसन तो चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ खेली गयी अपनी पिछली पारियों को ही आगे बढ़ाने के मूड में थे। सैमसन ने कोटरेल पर छक्के से शुरुआत की तो स्मिथ ने रवि बिश्नोई पर हाथ खोले और इस बीच जेम्स नीशाम पर तीन चौके लगाये। रॉयल्स ने पावरप्ले में 69 रन बनाये। 

स्मिथ ने भी अग्रवाल की तरह 26 गेंदों पर अर्धशतक पूरा किया, लेकिन इसके तुरंत बाद उन्होंने नीशाम की गेंद पर डीप कवर पर कैच दे दिया। सैमसन इसके बाद 27 गेंदों पर 50 रन पर पहुंचे। सैमसन ने मैक्सवेल के एक ओवर में तीन छक्के लगाये लेकिन शमी ने अगले ओवर में धीमी गति की शार्ट पिच गेंद पर उनकी बेहतरीन पारी का अंत कर दिया। इसके बाद शारजाह में तेवतिया का तूफान चला। 

इससे पहले अग्रवाल और राहुल ने शारजाह की बल्लेबाजों के लिये अनुकूल पिच पूरा फायदा उठाया और आईपीएल में पहले विकेट के लिये तीसरी सबसे बड़ी साझेदारी निभायी। इस बीच उन्होंने रॉयल्स के किसी भी गेंदबाज को लय हासिल नहीं करने दी। 

अग्रवाल ने अंकित राजपूत और जयदेव उनादकट पर छक्के लगाकर शुरुआत की जबकि चौथे ओवर में गेंद थामने वाले आर्चर का राहुल ने लगातार तीन चौकों से स्वागत किया।

अग्रवाल दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ खेली गयी 89 पारी की पुनरावृत्ति कर रहे थे। लेग स्पिनर राहुल तेवतिया के ओवर में लगाये गये उनके दोनों छक्के दर्शनीय थे। उन्होंने दूसरे लेग स्पिनर श्रेयस गोपाल पर छक्का लगाकर केवल 26 गेंदों पर 50 रन पूरे किये। 

अग्रवाल ने अगले 50 रन हालांकि केवल 19 गेंदों पर बनाये और 45 गेंदों पर सैकड़ा पूरा करके आईपीएल में यूसुफ पठान (37 गेंद) के बाद सबसे तेज शतक जड़ने वाले दूसरे भारतीय बल्लेबाज बने। उन्होंने इसके बाद टॉम कुरेन की गेंद पर मिडविकेट पर कैच दिया। 

राहुल भी राजपूत के अगले ओवर में पवेलियन लौट गये। पिछले मैच में नाबाद 132 रन बनाने वाले राहुल अपनी पिछली पारी की तरह प्रवाहमय नहीं दिखे लेकिन उन्होंने अग्रवाल का अच्छा साथ दिया तथा 35 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा किया था। 

आखिरी ओवरों में पूरण ने लंबे शॉट खेलने के अपने कौशल का अच्छा नमूना पेश किया। उन्होंने अपने तीने में से दो छक्के आर्चर पर लगाये जिन्होंने चार ओवर में 46 रन लुटाये। ग्लेन मैक्सवेल 13 रन बनाकर नाबाद रहे।