corona virus

दिल्ली में कोरोनावायरस के रोगियों की संख्या हुई 445, अधिकांश मरीज निजामुद्दीन मरकज से

नई दिल्ली: दिल्ली में कोरोनावायरस के रोगियों की संख्या शनिवार शाम बढ़कर 445 हो गई है। हालांकि दिल्ली में तेजी से बढ़ते इन मामलों में अधिकांश मरीज निजामुद्दीन मरकज से हैं, जो देश के विभिन्न हिस्सों से यहां एकत्र हुए थे।  दिल्ली सरकार का कहना है कि अगले एक-दो दिन में कोरोनावायरस के रोगियों की संख्या और तेजी से बढ़ सकती।  दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, राज्य में पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 59 नए मामले सामने आए हैं। इससे दिल्ली में कोरोना पॉजिटिव रोगियों की संख्या 445 हो गई है।

 मुख्यमंत्री ने कहा, दिल्ली में कोरोनावायरस के 445 मामले आने के बावजूद अभी भी यहां स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है। उन्होंने कहा दिल्ली में केवल 40 मामले ऐसे हैं, जिनमें कोरोनावायरस एक-दूसरे को छूने से फैला है। कोरोनावायरस के बाकी 405 रोगियों में अधिकांश निजामुद्दीन स्थित मरकज के और विदेश से आए हुए लोग हैं।

 केजरीवाल ने दिल्ली के अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कोरोनावायरस से ग्रस्त रोगियों के बारे में जानकारी देते हुए कहा, दिल्ली में अभी तक कोरोनावायरस के संक्रमण से 6 लोगों की मौत हुई है। 11 व्यक्ति आईसीयू में हैं और 5 कोरोना पॉजिटिव रोगियों को वेंटीलेटर पर रखना पड़ा है। इन 16 रोगियों की हालत गंभीर है, जबकि बाकी सभी कोरोना पॉजिटिव रोगी स्थिर अवस्था में हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा, दिल्ली में कोरोना का लोकल ट्रांसमिशन तो हुआ है, लेकिन अभी यह संक्रमण कम्युनिटी ट्रांसमिशन के स्तर पर नहीं पहुंचा है। दिल्ली में जिन 6 लोगों की मौत कोरोनावायरस के संक्रमण से हुई है, उनमें से 3 मरकज के हैं। मरने वाले 6 लोगों में से 5 को कोई न कोई दूसरी बीमारी थी। इनमें से एक व्यक्ति लीवर का रोगी रोगी था, एक शुगर का रोगी था। मरने वाले दो व्यक्तियों को पहले से सांस की बीमारी थी और एक हृदय रोगी था। कोरोनावायरस के कारण मरने वाले 5 रोगियों की उम्र 60 साल से अधिक थी, जबकि एक व्यक्ति की उम्र केवल 36 साल थी।