Haryana

हरियाणा में होम गार्ड्स एनरोलमेंट में नहीं हुआ कोई घोटाला

‘हरियाणा में होम गार्ड्स के एनरोलमेंट में कोई घोटाला नहीं हुआ है। अभी तक इस संबंध में कोई भी लिखित शिकायत राज्य मुख्यालय पर प्राप्त नहीं हुई है। होम गार्ड्स की भर्ती नहीं होती है बल्कि जरूरत के मुताबिक एनरोलमेंट होती है और उन्हें जब भी किसी विभाग की तरफ से मांगा जाता है तो उन्हें भेज दिया जाता है। प्रदेश सरकार ने कभी भी होम गार्ड्स की एनरोलमेंट पर रोक नहीं लगाई है।’ यह दावा 1986 बैच के आईपीएस डीजीपी रैंक में हरियाणा के होम गार्ड एंड सिविल डिफेंस के कमांडेंट जनरल पीआर देव ने बुधवार को दैनिक सवेरा के साथ विशेष बातचीत में किया है। उन्होंने कहा कि जिला कमांडेंट जब भी कमांडेंट जनरल (राज्य मुख्यालय) से एनरोलमेंट करने की अनुमति मांगते रहे, उन्हें यह अनुमति जारी होती रही। उन्होंने कहा कि होम गार्ड वालंटियर होते हैं न कि सरकारी नौकर। उनकी भर्ती किसी स्थायी कर्मचारी की तर्ज पर नहीं होती है। जिला कमांडेंट इन वालंटियर्स (स्वयं सेवकों) की एनरोलमेंट करते हैं। जब भी कोई विभाग जिला कमांडेंट से होम गार्ड्स मांगता है तो उन्हें इन स्वयं सेवकों को भेज दिया जाता है।