diaper rash, children

जानिए बच्चों को क्यों होती है Diaper Rashes, ये उपाय करेंगे आपकी समस्या का समाधान

आज के समय में नव जन्में बचे को ही डाइपर पहनने लग जाते हैं जिसके कारण आप तो नहीं जानते लेकिन बच्चों को काफी तरह की समस्या झेलनी पड़ती है। बच्चों की त्वचा बहुत सेंसटिव होती है जिसके कारण बच्चों को डायपर के कारण डायपर रैश की समस्या हो जाती है। इसी के साथ रेडनेस, जलन व दर्द आदि होता है। अगर आप चाहते हैं के डाइपर पहनने के बाद बच्चों को इस तरह की प्रॉब्लम न हो तो आज हम आपको कुछ उपाय बताएंगे जिससे रैशीस से बच्चों को काफी आराम मिलेगा। 

डायपर से रखें दूर: वैसे तो आजकल ये बहुत जरुरी हो गया है लेकिन आप अपने बच्चे को हमेशा डायपर में ना रखें. बच्चे को थोड़ी देर के लिए बिना डायपर के रखें,इससे उसकी स्किन को सूखने और हील होने में मदद मिले. इतना ही नहीं, अगर बच्चे को डायपर रैश हो गए हैं तो आप उसे टाइट, रबर या सिंथेटिक बॉटम पहनाने से बचें.

नारियल तेल का इस्तेमाल: नारियल के तेल में एंटीफंगल और रोगाणुरोधी गुण होते हैं और इसलिए, डायपर रैश के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है. यह बच्चे की कोमल त्वचा पर सुखदायक और उपचार प्रभाव डालता है. नारियल तेल एक बेहतरीन मॉइस्चराइजर के रूप में काम करता है.

Cloth Diapers Vs. Disposable Diapers - Mothers and More

पेट्रोलियम जेली: बच्चे को डायपर रैश से बचाने का एक उपाय यह भी है कि आप बच्चे के डायपर चेंज करते हुए पहले बच्चे की स्किन पर पेट्रोलियम जेली की एक थिन लेयर लगाएं. यह बच्चे के डायपर एरिया पर यूरिन के इरिटेटिंग इफेक्ट को कम करेगा.

स्किन को करें: साफ जब भी आप बच्चे का डायपर चेंज करें, तो स्किन को हल्के गर्म पानी की मदद से क्लीन करें. बच्चे की त्वचा क्लीन करने के बाद पहले उसे अच्छी तरह सूखने दें।