IPL 2020

Breaking: IPL 2020: KL Rahul की बड़ी पारी से किंग्स इलेवन की बड़ी जीत, रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर को 97 रनों से हराया

दुबई: कप्तान केएल राहुल के रिकार्ड शतक से किंग्स इलेवन पंजाब ने गुरुवार को यहां इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (आरसीबी) पर 97 रन से बड़ी जीत दर्ज करके अपना खाता खोला। राहुल ने विराट कोहली से मिले दो जीवनदान का पूरा फायदा उठाया और 69 गेंदों पर नाबाद 132 रन बनाये जो उनके करियर का सर्वोच्च स्कोर भी है। राहुल ने अपनी पारी में 14 चौके और सात छक्के लगाये जिससे पहले बल्लेबाजी का न्योता पाने वाली किंग्स इलेवन की टीम तीन विकेट पर 206 रन का विशाल स्कोर बनाने में सफल रही। 
इसके जवाब में आरसीबी का शीर्ष क्रम लड़खड़ा गया जिससे वह उबर नहीं पाया और उसकी टीम 17 ओवर में 109 रन पर ढेर हो गयी। कोच अनिल कुंबले से गुर सीख रहे किंग्स इलेवन के दोनों लेग स्पिनरों मुरूगन अश्विन (21 रन देकर तीन) और रवि बिश्नोई (32 रन देकर तीन) ने प्रभावित किया जबकि शेल्डन कोटरेल (17 रन देकर दो) ने शीर्ष क्रम झकझोरा। 

 किंग्स इलेवन की यह टूर्नामेंट में पहली जीत है। उसने पहला मैच दिल्ली कैपिटल्स से सुपर ओवर में गंवाया था जबकि सनराइजर्स हैदराबाद को हराकर शानदार शुरुआत करने वाला आरसीबी विजय अभियान जारी नहीं रख पाया। किंग्स इलेवन ने रनों के लिहाज से आईपीएल में अपनी दूसरी बड़ी जीत भी हासिल की। 
राहुल आईपीएल में सबसे बड़ी व्यक्तिगत पारी खेलने वाले भारतीय बने। इससे पहले का रिकार्ड ऋषभ पंत (नाबाद 128) के नाम पर था। वह जब 83 और 89 रन पर थे तब कोहली ने उनके कैच छोड़े थे जिसका फायदा उठाकर उन्होंने आखिरी दो ओवरों में 49 रन जोड़ने में अहम भूमिका निभायी। 
कोहली (एक) बल्लेबाजी में भी नहीं चले। कोटरेल ने पिछले मैच में छाप छोड़ने वाले देवदत्त पडिक्क्ल (एक) को आउट करने के बाद कोहली को भी पवेलियन भेजा जबकि मोहम्मद शमी ने इस बीच जोश फिलिप को पगबाधा आउट किया। आरसीबी ने तीन विकेट चार रन पर गंवा दिये थे।
एबी डिविलयर्स (18 गेंदों पर 28, चार चौके, एक छक्का) और सलामी बल्लेबाज आरोन फिंच (21 गेंदों पर 20) ने चौथे विकेट के लिये 49 रन जोड़े, लेकिन बड़े लक्षय़ का दबाव उन पर साफ दिख रहा था। बिश्नोई ने फिंच को विकेट के पीछे कैच कराकर यह साझेदारी तोड़ी। 
डिविलियर्स भी तुरंत पवेलियन लौट गये। उन्होंने दूसरे लेग स्पिनर मुरूगन अश्विन की गुगली पर कवर पर कैच दिया जिससे आरसीबी की उम्मीदें भी समाप्त हो गयी। वाशिंगटन सुंदर (27 गेंदों पर 30) के योगदान से हार का अंतर कुछ कम हुआ। 
इससे पहले राहुल ने अपनी शतकीय पारी के दौरान मयंक अग्रवाल (20 गेंदों पर 26, चार चौके) के साथ पहले विकेट के लिये 57, निकोलस पूरण (18 गेंदों पर 17) के साथ दूसरे विकेट के लिये 57 और करुण नायर (आठ गेंदों पर नाबाद 15) के साथ चौथे विकेट के लिये 78 रन की अटूट साझेदारियां की। 
आरसीबी की तरफ से युजवेंद्र चहल (25 रन देकर एक) ने फिर प्रभाव छोड़ा लेकिन डेल स्टेन (चार ओवर 57 रन) और उमेश यादव (तीन ओवर 35 रन) ने निराश किया। शिवम दुबे ने तीन ओवर किये और 33 रन देकर दो विकेट लिये। 
राहुल और अग्रवाल ने पारी की सहज शुरुआत की और ढीली गेंदों को सीमा रेखा तक पहुंचाया। चहल ने पावरप्ले के बाद गेंद संभाली और आते ही गुगली पर अग्रवाल को बोल्ड किया। राहुल पर इसका कोई असर नहीं पड़ा। उन्होंने दूसरी तरफ से रन जुटाने जारी रखे और उमेश पर पारी का पहला छक्का लगाया। 
कोहली ने बीच के ओवरों में दुबे को गेंद सौंपी जिन्होंने पूरण और ग्लेन मैक्सवेल (पांच) को आउट किया। कोहली अगर राहुल के कैच ले लेते तो आरसीबी के सामने बड़ा लक्षय़ नहीं होता। 
राहुल ने स्टेन की गेंद पर डीप मिडविकेट पर छक्का लगाने के बाद अगली गेंद पर उसी क्षेत्र में उछाली लेकिन कोहली ने आसान कैच टपका दिया। यही नहीं कोहली ने बाद में नवदीप सैनी की गेंद पर भी उनका कैच छोड़ा। 
इसका खामियाजा स्टेन और आरसीबी दोनों को भुगतना पड़ा। उन्होंने पारी के 19वें ओवर में स्टेन पर तीन छक्के और दो चौके लगाये और इस बीच न सिर्फ अपना शतक पूरा किया बल्कि टी20 में पिछला सर्वोच्च स्कोर (नाबाद 110) भी पीछे छोड़ा। स्टेन के इस ओवर में 26 रन बने। राहुल ने दुबे की पारी की आखिरी दो गेंदों पर छक्के लगाकर 23 रन बटोरे।