IPL 2020

IPL 2020: दिल्ली कैपिटल्स ने चेन्नई सुपर किंग्स को 5 विकेट से हराया

शारजाह: सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने तीन जीवनदान का फायदा उठते हुए इंडियन प्रीमियर लीग में पहली शतकीय पारी खेल कर चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ शनिवार को यहां दिल्ली कैपिटल्स को पांच विकेट की शानदार जीत दिलायी। 
धवन ने 58 गेंद की नाबाद पारी में 101 रन बनाये। इस जीत के साथ दिल्ली की टीम नौ मैच में 14 अंक के साथ तालिका में पहले स्थान पर पहुंच गयी।
चेन्नई ने पांच विकेट पर 179 रन बनाये थे जिसके जवाब में दिल्ली ने एक गेंद बाकी रहते पांच विकेट पर 185 रन बनाकर मैच अपने नाम किया। 
दिल्ली को आखिरी दो ओवर में 21 रन बनाने थे लेकिन सैम कुरेन ने 19वें ओवर में सिर्फ चार रन दिये और एलेक्स कैरी (04) का विकेट चटका मैच रोमांचक बना दिया। 
ड्वेन ब्रावो चोटिल होने के कारण मैदान में नहीं थे ऐसे में कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने आखिरी ओवर में जडेजा को गेंद थमाई जिनके खिलाफ अक्षर पटेल ने तीन छक्के लगाकर दिल्ली की जीत पक्की कर दी। उन्होंने पांच गेंद में नाबाद 21 रन बनाये जिससे दिल्ली ने मौजूदा सत्र में लक्षय़ का पीछा करते हुए पहली जीत दर्ज की।
धवन ने तीन जीवनदान का फायदा उठाते हुए अपनी शतकीय पारी में 14 चौके और एक छक्का लगाया। उन्हें पहला जीवनदान सातवें ओवर में जडेजा की गेंद पर मिला जब दीपक चाहर ने कैच टपका दिया। इसके बाद 10वें ओवर में जब वह 50 रन पर बल्लेबाजी कर रहे थे तब ब्रावो की गेंद पर धोनी ने उनका मुश्किल कैच छोड़ दिया। उन्हें तीसरा जीवनदान रायुडु ने 16वें ओवर में शादरुल ठाकुर की गेंद पर कैच छोड़कर दिया। इस समय वह 80 रन पर खेल रहे थे।
लक्षय़ का पीछा करने उतरी दिल्ली की टीम को दीपक चाहर ने पारी की गेंद ही पृथ्वी साव को खाता खोले बगैर पवेलियन भेजा। धवन पर हालांकि जिसका ज्यादा असर नहीं हुआ और उन्होंने दूसरे ओवर में कुरेन के खिलाफ दो चौके लगाये। 
अजिंक्य रहाणो एक बार लय हासिल करने में नाकाम रहे और चौथे ओवर की पहली गेंद पर चाहर का दूसरा शिकार बने। प्वाइंट पर कुरेन ने शानदार कैच लपक कर 10 गेंद में उनकी आठ रन की पारी का अंत किया। इसी ओवर में शेन वाटसन ने श्रेयस अय्यर को रन आउट करने का मौका गंवा दिया। उन्होंने मौके का फायदा उठाते हुए शादरुल ठाकुर की गेंद पर पारी का पहला छक्का जड़ा।
धवन ने 10वें ओवर में ब्रावो की गेंद पर एक रन लेकर 29 गेंद में अपना अर्धशतक पूरा किया। अय्यर हालांकि 23 गेंद में 23 रन बनाकर ब्रावो की गेंद पर डुप्लेसिस को कैच दे बैठे। उन्होंने धवन के साथ तीसरे विकेट के लिये 68 रन की साझेदारी की।
इसके बाद बल्लेबाजी के लिए आये मार्कस स्टोइनिस ने कर्ण शर्मा की गेंद पर छक्का और चौका लगाकर अपने इरादे जाहिर कर दिये। वह 14 गेंद में 24 रन बनाकर ठाकुर का शिकार बने।
इससे पहले फाफ डुप्लेसिस (58) की अर्धशतकीय पारी के बाद आखिरी ओवरों में अंबाती रायुडु और जडेजा की ताबड़तोड़ पारी से चेन्नई सुपर किंग्स ने चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया।
चेन्नई के बल्लेबाजों ने आखिरी पांच ओवर में 67 रन जोड़े जिसमें जडेजा ने 13 गेंद में चार छक्के की मदद से नाबाद 33 और रायुडु ने 25 गेंद में चार छक्के और एक चौका की मदद से नाबाद 45 रन बनाये। दोनों ने महज 21 गेंद में 50 रन की साझेदारी की।
डुप्लेसिस ने शेन वाटसन (36) के साथ दूसरे विकेट के लिए 87 रन की साझेदारी कर बाद के बल्लेबाजों के लिए मजबूत नींव रखी।
चेन्नई के लिए टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी का फैसला उस समय गलत लगा जब युवा तेज गेंदबाज तुषार पांडे ने शुरुआती ओवर की तीसरी गेंद पर ही चेन्नई के सलामी बल्लेबाज सैम कुरेन को खाता खोले बगैर पवेलियन भेज दिया। इसके बाद कागिसो रबाडा के द्वारा किया गया दूसरा ओवर मेडन रहा। वाटसन ने तीसरे ओवर में देशपांडे के खिलाफ दो चौके जबकि डुप्लेसिस ने नोज्रे के खिलाफ पांचवें ओवर में छक्के और फिर दो चौके लगाकर हाथ खोले। 
डुप्लेसिस ने 12वें ओवर में एक रन के साथ 39 गेंद में आईपीएल का 16वां और मौजूदा सत्र का चौथा अर्धशतक पूरा किया लेकिन अगली ही गेंद पर नोज्रे ने वाटसन को बोल्ड कर दोनों के बीच दूसरे विकेट के लिए 87 रन की साझेदारी को तोड़ दिया। वाटसन ने 28 गेंद में छह चौके की मदद से 36 रन बनाये। 
डुप्लेसिस को इसके बाद अक्षर पटेल की गेंद पर जीवनदान भी मिला जब शिखर धवन ने उनका कैच टपका दिया। वह हालांकि इसका फायदा नहीं उठा सके और 15वें ओवर में रबाडा की गेंद इस बार धवन ने इस मुश्किल कैच पकड़ने में कोई गलती नहीं की। उन्होंने 47 गेंद की पारी में छह चौके और दो छक्के लगाये। 
धोनी एक बार फिर नाकाम रहे और पांच गेंद में तीन रन बनाकर नोज्रे का दूसरा शिकार बने। 
जडेजा और रायुडु ने हालांकि आखिरी ओवरों में बड़े शॉट लगाकर क्रीज पर धोनी की कमी को महसूस नहीं होने दिया। दोनों के रबाडा के 19वें और नोज्रे के 20वें ओवर में 16-16 रन बटोरे। जडेजा ने नोज्रे के आखिरी ओवर में लगातार दो छक्के लगाये।