कोरोना

कोरोना पीड़ितों को अटैंडेंट रखने के लिए पास जारी करे सरकार

प्रदेश हाईकोर्ट ने कोरोना से ठीक हुए मरीजों की चिकित्सीय देख भाल के लिए विशेष ओपीडी केंद्र खोलने की जरूरत महसूस करते हुए प्रदेश सरकार को अपना पक्ष कोर्ट के समक्ष रखने के आदेश दिए। मुख्य न्यायाधीश लिंगप्पा नारायण स्वामी व न्यायाधीश अनूप चिटकारा की खंडपीठ के समक्ष जनहित से जुड़े मामले के पक्षकारों ने बताया कि कोरोना संक्रमण से स्वस्थ हुए मरीज अपनी देखरेख सही ढंग से नहीं कर पाते या उन्हें नैगेटिव आने के बावजूद चैकअप की जरूरत रहती है। 


इसलिए ऐसे मरीजों के लिए विशेष ओपीडी केंद्र खोले जाने चाहिए। कोर्ट को बताया गया कि कोविड केयर सेंटरों में सभी मरीजों को एक ही तरह का खाना दिया जाता है जो स भवत: हर मरीज के लिए उपयुक्त नहीं होता। कोर्ट ने सरकार को आदेश दिए कि वह ऐसे मरीजों को विशेष तरह का भोजन उपलब्ध कराने पर विचार करे अथवा उन्होने घर का खाना खाने के लिए स्वीकृित पद्रान करे। 


कोटर ने सरकार को आदेश दिए कि वह उन मरीजो के अटडेंटें को विशष प्रमाणपत्र अथवा पास जारी करे जिन्हें निजी अटडेंटें की जरूरत हो। कोटर ने कोरोना रोगी विशेष कर मधुमेह रोगी, बढूे बुजुर्ग व बच्चों को विशेष डाइट उपलब्ध करवाने के आदेश भी दिए। मामले पर अगली सुनवाइ 22 दिसंबर को होगी। 

Loading ...