poverty

गरीबी के खात्मे के लिए किए जा रहे हैं व्यापक उपाय

चीन में गरीबी उन्मूलन का लक्ष्य हासिल करने के लिए व्यापक योजनाएं चल रही हैं। चीन की केंद्र सरकार के नेतृत्व में विभिन्न प्रांत गरीबी के खात्मे के लिए पुरजोर कोशिश में जुटे हैं। दूर-दराज के इलाकों में सड़क, पानी व बिजली आदि सुविधाएं मुहैया कराने पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। वहीं गरीब लोगों की आय बढ़ाने के लिए स्थानीय स्तर पर ही रोजगार के मौके प्रदान किए जा रहे हैं, ताकि उन्हें शहरों में न जाना पड़े। क्वांगशी च्वांग स्वायत्त प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में भी हाल के वर्षों में स्थिति में काफी सुधार आया है। बताया जाता है कि संबंधित विभागों की मदद से गांव-वासी मवेशियों को पालकर अच्छी कमाई कर रहे हैं।

यहां बता दें कि दाहुआ काउंटी का शंगली गांव एक बेहद ही दुर्गम इलाके में स्थित है, वहां की आबादी लगभग 6100 है। अपनी विषम भौगोलिक स्थिति के कारण यह क्षेत्र विकास की राह में पिछड़ा रहा। साल 2017 तक इस गांव के 93 फीसदी लोग गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रहे थे। लेकिन पिछले दो-तीन वर्षों में स्थानीय प्रशासन द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं से गांव में हर चीज़ में सुधार देखने में आया है। लोगों को गरीबी से दलदल से बाहर निकालने के लिए गांव के आसपास ही उद्योग धंधों की स्थापना की गयी है। अब वहां महज 36 प्रतिशत लोग गरीब हैं, हालांकि यह गांव अब भी चीन के सबसे गरीब और पिछड़े क्षेत्रों में से एक है। वैसे क्वांगशी च्वांग प्रदेश का यह इलाका पथरीले रेगिस्तान व बंजर भूमि के लिए जाना जाता है, जहां पर उपजाऊ ज़मीन बहुत कम है। 

यहां बता दें कि स्थानीय सरकार के प्रयास के बाद गत् 5 वर्षों में दाहुआ काउंटी में 2,300 किमी. लंबी सड़कों का निर्माण किया गया है। जिससे लोगों को अब शहर जाने, सामान लाने-ले जाने में बहुत सुविधा हो गयी है।  सड़क बनाने के अलावा गांव में ही लोगों को रोजगार के मौके मुहैया कराए गए हैं। 2018 के अंत में, गांव में गरीबी उन्मूलन के अभियान के तहत मवेशी फार्म तैयार किया गया, साथ ही गरीब लोगों को पशुधन कौशल की ट्रेनिंग भी दी गयी। पिछले साल, 99 गरीब परिवारों ने सामूहिक रूप से 120 मवेशियों को पालने का काम किया। जिससे उनकी आय में बहुत इजाफा हुआ है। 

(अनिल पांडेय - चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)