akhand karamati mandir

भगवान शिव का चमत्कारी मंदिर जो पेड़ पर है विराजमान, जानिए क्या है रहस्य

हिंदू धर्म में सभी भगवान शिव की पूजा करते हैं, अपनी मनोकामनाओं और भोलेनाथ का आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए पूजा और व्रत रखते हैं। आज हम आपको एक ऐसे पेड़ के बारे में बताने जा रहे हैं जिस पर है भगवान शिव का वास

बता दें, भारत में पीपल, बरगद, नीम, खेजड़ी वृक्षों की पूजा बड़े श्रद्धाभाव से की जाती हैं क्योकि कहा जाता हैं की पेड़ पर्यावरण का हिस्सा हैं जो हमारे लिए जीवनदायनी होते हैं लेकिन एक ऐसा चमत्कारी पेड़ भी हैं जिसमे शिव जी भगवान का करामाती मंदिर हैं। 

यह मंदिर बरगद और पीपल के पेड़ में हैं जिसकी टहनिया भगवान शिव के गले के साप, डमरू, त्रिशूल के जैसे प्रतीत होती हैं, इस मंदिर की कृपा चारो तरफ फैली हैं जिसके दर्शन के लिए बहुत से भक्त रोजाना आते हैं। 

इन पेड़ो में दर्शन करने वाले भक्तो को सबसे पहले ॐ का आकार दिखता हैं, यह पेड़ बहुत सदियों से विराजमान हैं यानी यह मंदिर बहुत ही प्राचीन हैं। 

इन पेड़ो की जड़ो में से प्रवेश द्वार हैं और अंदर भगवान शिव का मंदिर हैं जिसकी कृपा से सभी पापो का नाश होने के साथ आपकी मनोकामनाएं झट से पूरी होती हैं। 

माना जाता हैं की कई वर्षो पूर्व श्रीयोगी हरिनाथ बाबा भक्ति और तप किया करते थे इन्होने यही पर समाधी ली थी जिसके बाद यहाँ करामाती शक्तियों का डेरा बसा हुआ हैं।