chandigarh, breaking news punjab, punjab news online, latest news punjab

बिजली की कीमतों में वृद्धि को लेकर AAP का पैदल मार्च

चंडीगढ़ः  पंजाब में लगातार बढ़ायी जा रही बिजली की कीमतों के विरोध में आम आदमी पार्टी के विधायकों ने बुधवार को विधायक हॉस्टल से विधानसभा तक पैदल मार्च किया।मार्च के दौरान विधायकों ने कैप्टन सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और मुख्यमंत्री पर पिछले विधानसभा चुुनावों के दौरान किये वादे पूरा नहीं करने का आरोप लगाया। विपक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि कैप्टन सिंह ने 2017 के चुनावों से पहले बिजली की दरों को कम करने का वादा किया था, लेकिन सरकार बनाने के बाद अभी तक उन्होंने बिजली की कीमतों में 14 बार वृद्धि की है।

चीमा ने कहा कि कैप्टन ने चुनाव से पहले अपने घोषणापत्र में कहा था कि अकाली-भाजपा सरकार में निजी कंपनियों के साथ किए गए बिजली समझौतों की समीक्षा की जाएगी और उन्हें रद्द कर दिया जाएगा। उन्हें सत्ता में आए चार साल हो चुके हैं, लेकिन इसके लिए अभी तक कोई कदम नहीं उठाया है। उन्होंने बिजली की कीमतों पर श्वेत पत्र लाने का भी वादा किया था,लेकिन लाना भूल गए।आप नेता ने कहा कि प्रदेश सरकार की गलत नीतियों के कारण पंजाब के लोग महंगी बिजली खरीद रहे है और महंगाई की मार झेल रहे हैं। कैप्टन सिंह को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से सीखना चाहिए। दिल्ली की सरकार अपने लोगों को बिजली खरीदकर भी मुफ्त में बिजली मुहैया करा रही है और कैप्टन सरकार बिजली उत्पादन करके भी लोगों को सबसे महंगी दरों पर बिजली उपलब्ध करा रही है।

आप विधायक अमन अरोड़ा ने कहा कि उन्होंने इस बारे में विधानसभा सत्र में एक विधेयक पेश किया था, लेकिन सभा अध्यक्ष ने इसे यह कहते हुए खारिज कर दिया कि यह एक ताजा मुद्दा नहीं है। आप पार्टी पिछले चार साल से सरकार को जगाने की कोशिश कर रही है, लेकिन सरकार बेफिक्र होकर सो रही है। कांग्रेस सरकार के मंत्रियों और विधायकों ने भी इस मुद्दे पर बात की थी, लेकिन कैप्टन सिंह ने उनकी बात भी नहीं सुनी। उन्होंने आरोप लगाया कि कैप्टन सिंह ने को लोगों को लूटने के लिए माफिया को पूरी छूट दे रखी है, और खुद उन्हें संरक्षण दे रहे हैं। यदि चुनावों के दौरान कैप्टन सिंह ने जो वादे किए थे, वे पूरे कर दिए होते तो आज उनको 2022 विधानसभा चुनाव के लिए रणनीतिकार की जरुरत नहीं पड़ती।
 



Live TV

-->
Loading ...