Women Commission Helpline Corona positive

दिल्ली महिला आयोग हेल्पलाइन की 6 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव

नई दिल्लीः दिल्ली महिला आयोग आयोग नारायणा स्थित एक कार्यालय से अपनी हेल्पलाइन को संचालित करता है जहां 36 काउंसलर काम करती हैं। अब तक आयोग की 6 कर्मचारी कोरोना की चपेट में आ गई हैं। इनमें से 2 सुपरवाइजर और 4 काउंसलर शामिल हैं। इसी के मद्देनजर सभी संक्रमित कर्मचारियों को होम आइसोलेट कर दिया गया है। आयोग ने अपने कार्यालय को सैनिटाइज कर शाम की शिफ्ट के कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम में कार्यरत किया है। साथ ही दिन की शिफ्ट में भी सैनीटाइजेशन और सोशल डिस्टनसिंग का भी खास ध्यान रखा जा रहा है।

दिल्ली महिला आयोग सक्रियता से दिल्ली में कार्य करता आ रहा है। आयोग दिल्ली में हेल्पलाइन का भी सफलतापूर्वक संचालन करता है। इस हेल्पलाइन के जरिए दिल्ली की महिलाएं केवल एक कॉल पर सहायता प्राप्त कर पाती हैं। पिछले दिनों भी देखा गया कि कोरोना लॉकडाउन में भी आयोग प्रतिदिन हजारों कॉल्स की सुनवाई कर रहा था। लॉकडाउन के दौरान कॉल्स की संख्या में भी बढोतरी हुई थी। आयोग ने इस दौरान राशन एवं मेडिकल इमरजेंसी के मामलों में भी शिकायतकर्ताओं की मदद की थी। 

इन विपरीत परिस्थितियों में भी हेल्पलाइन 24 घंटे चल रही है। पिछले 5 वर्षों में ये हेल्पलाइन दिल्ली की महिलाओं के लिए लाइफलाइन बनकर उभरी है। इसी हेल्पलाइन के सहारे दिल्ली महिला आयोग ने घरेलू हिंसा, अवैध शराब की बिक्री, सेक्स रैकेट इत्यादि हजारों मामलों में एक्शन लिया है। दिल्ली महिला आयोग अध्यक्षा स्वाति मालीवाल ने कहा, जब से हमने दिल्ली महिला आयोग का कार्यभार संभाला है तब से इस हेल्पलाइन पर आने वाली कॉल्स कई गुणा बढ़ गई हैं। इसका कारण है कि दिल्ली की महिलाओं को अब आयोग के काम पर भरोसा है और लोगों में हमारे काम के प्रति विश्वसनीयता बेहद अधिक है। 

उन्होंने कहा, पिछले 5 सालों में हमने हेल्पलाइन पर लाखों कॉल्स अटेंड की हैं। कोरोना लॉकडाउन के दोरान भी आयोग की हेल्पलाइन ने 24 घंटे काम किया है। लगातार कार्य करते हुए 181 हेल्पलाइन के 6 कर्मचारी कोरोना संक्रमित हो गए हैं। लेकिन इन विपरीत परिस्थितियों में भी हमने अपने कार्य में कोई कमी नहीं आने दी है। कार्यालय में सैनीटाइजेशन और सामाजिक दूरी का खास ध्यान रखा जा रहा है और सभी चुनौतियों के बाद भी हम दिन रात दिल्लीवासियों की सेवा के लिए कार्यरत हैं।